April 8, 2010

बेहतरीन गजलें

जगजीत सिंह जी की कुछ बेहतरीन गजलें पेश करना चाहता हूँ दोस्तों। सुनिए और लुत्फ़ उठाइये.



5 comments:

संजय भास्कर said...

वाह.. . बहुत ही दिलचस्प तथा अहसास से पूर्ण .......कल्पना की दुनिया कही न कही हकीक़त के रस्ते से होकर गुजरती है .

संजय भास्कर said...

बहुत खूब, लाजबाब !

Suman said...

nice

Ravindra Ravi said...

धन्यवाद संजय जी. मुझे जगजीत सिंगजी की गाई गजले बहुत ही मनमोहक लगती है.

Ravindra Ravi said...

Thanks Sumanji.