February 5, 2011

जिंदगी एक झील

(गूगल इमेज)


जिंदगी एक झील है
जो तैरना सीख ले
वो जिंदगी जी लेता है,
वरना जिंदगी भर
इस झील में डूबकी लगाता रहता है
और अंत में डूब ही जाता है.


25 comments:

Roshi said...

सही लिखा है आपने जिन्दगी झील की तेरह ही है

Ravindra Ravi said...

धन्यवाद रोशी जी!

दर्शन कौर धनोए said...

रविन्देर जी,बहुत अच्छी बात की हे आपने जिन्दगी सचमुच एक झील हे तेरना जानते हो तो पार लग जाओगे वरना डूबना तो लाजमी हे ही |

Ravindra Ravi said...

हां दर्शनजी, इस झील में जो तैरना सीख जाए वही इसे पार कर सकता है.

हरकीरत ' हीर' said...

Bohot khoob ....!!

: केवल राम : said...

जिन्दगी का फलसफा वयां कर दिया आपने ...आपका शुक्रिया

सुज्ञ said...

और तैरने के भी असंख्य मोड है,आगे भी निकलना है,जलचरों से बचना है और साहस बनाए रखना हैं।

सार्थक बात कही आपने

Neeraj Shinde said...

सुन्दर ... अपना अपना नजरिया है... जिंदगी एक जरिया है

neeraj
http://shindeneeraj.blogspot.com

Ravindra Ravi said...

बिलकुल सही फरमाया आपने सुज्ञजी!

Ravindra Ravi said...

दर्शनजी,हरकिरतजी और केवलरामजी आपका बहुत बहुत शुक्रिया!!!

Ravindra Ravi said...

बहुत सही कहा आपने नीरज!

Navin C. Chaturvedi said...

ये तो सनातन और शास्वत् सत्य है रवीन्द्र जी| बहुत ही कम शब्दों में आपने जीवन के यथार्थ को शब्दांकित कर दिया है| साझा करने के लिए धन्यवाद|

Ravindra Ravi said...

तारीफ के लिए शुक्रिया नविनजी!

रश्मि प्रभा... said...

gudh rahasya kahen yaa sidhi si baat... lekin kamaal ki hai

भानस said...

बढिया!!! :)

Ravindra Ravi said...

रश्मिजी, इस नाचीज ने लिखी और आपने सराही! मै धन्य हुआ.

Ravindra Ravi said...

शुक्रिया भाग्यश्रीजी !

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

जीवन के अलग रंग की सुंदर अभिव्यक्ति ....

***Punam*** said...

seedhi.....saral.....aur sachchi baat......!!

Ravindra Ravi said...

आपका आभारी हू मोनिकाजी!

Ravindra Ravi said...

जी हां पुनमजी, मैंने जीवन की सच्चाई पेश करने की कोशिश की है.

Sharda Monga said...

Very nice.

Ravindra Ravi said...

Thank you shardaji!

DR NIRANJAN KUMAR SINGH said...

APKI KAVITAYEN BADI PRABHAVSHALI HAIN.MERI SHUBHKAMNAYEN.

Ravindra Ravi said...

धन्यवाद निरंजनजी