March 4, 2011

दुखो का दर्द

दुखो का दर्द समझना आसान नही होता
जानना हो अगर तो कांटो पर चल कर देख लो!

4 comments:

Dinesh pareek said...

बहुत सुन्दर | आपकी हर पोस्ट पढ़ कर बहुत अच्छा लगा |
आप मेरे ब्लॉग पे भी आइये आपको अपने पसंद की कुछ रचनाये मिलेंगी
दिनेश पारीक
http://vangaydinesh.blogspot.com/

Ravindra Ravi said...

Thanks Dinesh!

दीप said...

bahut sundar

Ravindra Ravi said...

Dhanyavad Deepji!