May 6, 2012

कुछ लोग ऐसे होते है

कुछ लोग  ऐसे होते है 
जिंदगी में धीमी आहट घुसे  चले आते है
और 
युही जिंदगी में झाँककर चले जाते है
पर अपनी ऐसी छाप झोडे जाते है
की जिंदगी भर याद आते है.

8 comments:

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

बहुत सुंदर
क्या कहने

shailesh said...

बहोत खूब ..रविंद्रजी

shailesh said...

बहोत खूब ..रविंद्रजी

रविंद्र "रवी" said...

शुक्रिया महेंद्रजी!

रविंद्र "रवी" said...

शैलेश्जी धन्यवाद!

मुकेश पाण्डेय चन्दन said...

sundar rachna !

Dinesh Nayal said...

बहुत सही

शिवनाथ कुमार said...

गागर में सागर जैसी रचना ..
बहुत सही लिखा है आपने, कुछ रिश्ते ऐसे होते हैं जिनकी अवधि तो छोटी होती है पर छाप लम्बी होती है, जीवन पर्यंत तक ...
सुंदर रचना ... बधाई !!