December 14, 2011

जिंदगी के तराने


जिंदगी के तराने बहुत है,
जिंदगी में अफसाने बहुत है.  
जिंदगी से घबराओ नहीं दोस्तों,
जिंदगी में मैखाने बहुत है,

16 comments:

sushma 'आहुति' said...

बहुत खूब.....

Mamta Bajpai said...

bahut khub
..
जीवन मैं संताप घनेरे ,धुप छाँव सुख दुःख के डेरे

संजय भास्कर said...

Well written! :)

mridula pradhan said...

very good.

ITU RAJPUROHIT said...

bhut khub..sa kabhi hamari side bhi padhare.

रजनीश तिवारी said...

सुंदर

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

अच्छी रचना

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

अच्छी रचना

manu sharma said...

bahut khub

HARISH JAIPAL MALI said...

ये तो जिंदगी की दरियादिली है की मुझे जिए जा रही है वरना मैं तो खुश रहता हूँ अकसर...
खुबसूरत रचना....

HARISH JAIPAL MALI said...

ये तो जिंदगी की दरियादिली है की मुझे जिए जा रही है वरना मैं तो खुश रहता हूँ अकसर...
खुबसूरत रचना....

Viral Trivedi said...

वाह।

ajay pandey said...

jindagi ka karva iss tarah chalta rahe jindagi ka karva iss tarah chahlta rahe ki bahut khub duniya kahe jindagi ek aise hi cheej hai doaab me jindagi chalti rahe rahe jeevan me bahut dukh aate hai bahut dukh aate hai bahut khushi aati hai par kuch pal aise hote hai ki yaad aate hain

ajay pandey said...

jindagi bahut khub

ajay pandey said...

as we know that life is important this blog is very good

Pradeep Mehra said...

बहुत अच्छा लिखा है इस से नव योविको में जागृत आएगी!
प्रदीप मेहरा