January 2, 2012

हर साल बस यु ही होता है..................

हर साल बस यु ही होता है,
पुराना साल जाता है,
और
नया  साल आता है,
हम बस वही रह जाते है
जाते  हूये को ताकते रहते है
और

आते हुये को भी ताकते ही रहते है,
कुछ भी तो नही कर पाते है,
अजी हर साल कसमे खाते है
पर सिगारेट की लत है की  
छोड नही पाते है........
 

15 comments:

***Punam*** said...

आपको भी नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं ......

रजनीश तिवारी said...

नव वर्ष की हार्दिक शुभकामनाएँ ...

ASHOK BIRLA said...

bahut sundar ...naya andaj ...naya saal aur purani lat .....awsom combination

vandana says said...

Very nicely said, about the gone year and this year. also we remain the same whichever year.

somali said...

very well said sir

Manish Bhatt said...

पर सिगरेट की लत है की
छोड नही पाते है...!
शुभकामनाएँ ...!

Manish Bhatt said...

पर सिगरेट की लत है की
छोड नही पाते है...शुभकामनाएं ...

avanti singh said...

sundar rachna hai der se hi sahi par aap ko bhi nav varsh ki bdhai....

sushma 'आहुति' said...

नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं......

हरकीरत ' हीर' said...

इस बार छोड़ ही दें ......
ये लत ठीक नहीं .....
और छोड़ना इतना भी कठिन नहीं ......

Ojaswi Kaushal said...
This comment has been removed by a blog administrator.
रविंद्र "रवी" said...

आपका बहुत बहुत शुक्रिया हरकिरतजी, पर मै आदत से बेजार हुं. बहुत समझाता हुं अपने आपको, रोज रात को कसमे खाता हुं, कोई फायदा नाही होता.

दिनेश पारीक said...

बसंत ऋतू के आगमन पे आपको ढेर सारी सुभकामनाये
आपकी प्रतिक्रिया मिलती रहती है जिसे मुझे उर्जा मिलती है
आपका बहुत बहुत धन्यवाद्
माफ़ी चाहता हु की में कुछ दिनों से ब्लॉग पे आ नहीं सका

इस के लिए मुझे खेद है
आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको
और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है बस असे ही लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये

बेटी है गर्भ में गिराए क्या ??????
अपनी प्रतिक्रिया जरुर देवे
दिनेश पारीक

Neeraj Dwivedi said...

आते हुये को भी ताकते ही रहते है,
कुछ भी तो नही कर पाते है,
अजी हर साल कसमे खाते है
पर सिगारेट की लत है की
छोड नही पाते है........

Sahi kaha aapne ... ham kuchh nahi kar pate.
My Blog: Life is Just a Life
My Blog: My Clicks
.

Ramaajay Sharma said...

बहुत सुंदर लिखा है आपने... बिलकुल सच....