October 16, 2011

सबका दिल बस युही रोता है.............


मेरे दिल तू इतना गुमसुम क्यो है?
आंखे तेरी इतनी नम क्यो है?
तुझे कोई गहरा गम है?
तू न इतना घबरा, 
प्यार में यही होता है
सबका दिल बस युही रोता है.

28 comments:

Madhu Tripathi said...

ravi ji
badhayee ab dil ko pyar huaa
kitna spast likhte ho aap samne scene dikhaee padne lagti hai

madhu tripathi
tripathi873@gmail.com
http://kavyachitra.blogspot.com

Rravindra Ravi said...

आपका तहेदिल से शुक्रिया मधुजी!!!!!!!

संगीता स्वरुप ( गीत ) said...

खूबसूरती से लिखे एहसास

Rravindra Ravi said...

शुक्रिया संगीताजी!!!

Rajendra Swarnkar : राजेन्द्र स्वर्णकार said...




रवि जी
:)
सच कहा आपने
प्यार में यही होता है

सुंदर ब्लॉग है आपका …
और प्यारी रचनाएं

आपको सपरिवार
दीपावली की अग्रिम बधाइयां !
शुभकामनाएं !
मंगलकामनाएं !

-राजेन्द्र स्वर्णकार

Udan Tashtari said...

सही है प्यार की अभिव्यक्ति...

डॉ॰ मोनिका शर्मा said...

gahare bhav..

Rravindra Ravi said...

धन्यवाद, मोनिकाजी!!!!

Rravindra Ravi said...

शुक्रिया समीरजी!!!!!!

Rravindra Ravi said...

राजेन्द्रजी, कृपया पुनः पधारे.

वन्दना अवस्थी दुबे said...

बढिया है :)

Rravindra Ravi said...

आभार वंदनाजी!!!!!!!

मलकीत सिंह जीत said...

आदरनीय र्रविन्द्र रवी जी ,आपकी सभी रचनाये बेहद अच्छी है सौभाग्य से पढने को मिल गयी ,आपने निवेदन है की एक मार्ग दर्शक के रूप में (एक प्रायस "बेटियां बचाने का ")ब्लॉग में जुड़ने का कष्ट करें
http://ekprayasbetiyanbachaneka.blogspot.com

Rravindra Ravi said...

जरूर जी, मै आपके इस प्रयास में शामिल हू.

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

क्या बात
बहुत सुंदर

महेन्द्र श्रीवास्तव said...

दीपावली की ढेर सारी शुभकामनाएं

Rravindra Ravi said...

महेंद्रजी, आपको भी दीपावली कि ढेर सारी शुभकामनाये!

mridula pradhan said...

choti si per bahut achchi.....

Rravindra Ravi said...

धन्यवाद मृदुलाजी!!!!!

वीना said...

खूबसूरत और सच्चे एहसास....

Rravindra Ravi said...

विनाजी आपका बहुत बहुत धन्यवाद!!!!

mridula pradhan said...

bahut achchi lagi.....

Rravindra Ravi said...

मृदुलाजी, आप हमारे घर दोबारा पधारे और अपना मत व्यक्त किया. हम आपके तहेदिल से आभारी है.

Suman said...

nice

Rravindra Ravi said...

धन्यवाद सुमनजी!

S.N SHUKLA said...

बहुत सुन्दर भावाभिव्यक्ति , बधाई.



कृपया मेरे ब्लॉग पर भी पधारने का कष्ट करें, आभारी होऊंगा .

Surendra shukla" Bhramar"5 said...

सच कहा आपने प्यार में कभी कभी नहीं बल्कि अक्सर ऐसा हो जाता है ...सुन्दर क्षणिका
भ्रमर 5

Rravindra Ravi said...

आपका तहेदिल से शुक्रिया सुरेन्द्रजी!!!!!